All posts tagged: रामचरितमानस

मुद्रिकाप्रसंग

रामचरितमानस में गोस्वामी तुलसीदास जी ने अनेक प्रसंगों को बहुत ही गूढ़ रूप से लिखा है और कई प्रसंगों को केवल छुआ मात्र है, उनका विस्तृत उल्लेख नहीं किया है। ऐसा ही एक प्रसंग मुद्रिकाप्रसंग है

ram

रामनवमी महिमा – भाग १

चैत्र माह की शुक्ल प्रतिपदा से सृष्टि की रचना आरंभ हुई, जिसे सनातन धर्म को मानने वाले नव वर्ष के रूप में मनाते हैं।

Tulsidas

अपने-अपने राम

कथा प्रसंग जुड़ते रहेंगे, माध्यम परिवर्तित होते रहेंगे परंतु राम त्रेता से कलयुग के ‘आदिपुरुष’ थे,हैं और रहेंगे। गरिमा तिवारी बता रही हैं आपने, उनके और हमारे राम की भक्ति कथा।